Breaking News

स्लिप्ड डिस्क से मिलेगा आसानी से छुटकारा

नई दिल्ली : आज कल अधिकांश लोगों में कमर दर्द की शिकायत बड़ी आम हो चली है। विशेषज्ञ इसके कई कारण बता रहे हैं। लेकिन एक बड़ा कारण आज की आधुनिक जीवनशैली है। कमर दर्द का पहले दर्दनाशक दवाओं व बेडरेस्ट के अलावा कोई कारगर इलाज नहीं था। लेकिन आज पिन होल सर्जरी जैसी नई चिकित्सा सुविधा देश में उपलब्ध हो गयी है।

आप का कोई न कोई परिचित इससे परेशान अवश्य मिल जायेगा। आखिर यह कमर दर्द क्या है? और  इसके क्या-क्या कारण हैं? इसके उत्तर में नई दिल्ली स्थित सर गंगा राम अस्पताल के वरिष्ठï न्यूरो एंड स्पाइन डिपार्टमेंट के डायरेक्टर डा. सतनाम सिंह छाबड़ा के अनुसार रीढ़ की हड्ïडी में प्रत्येक दो वर्टिब्रा के बीच में एक डिस्क होती है जो कि एक शॉक-अब्र्जावर का कार्य करती है। घिस जाने पर यह डिस्क बड़ी हो कर बाहर निकल आती है और इस कारण से कमर के निचले हिस्से में भंयकर दर्द होता है। यह दर्द दोनों पैरों में भी जा सकता है।

आजकल अधिकतर लोगों (विशेषत: युवाओं) में डिस्क (कमर) दर्द की शिकायत एक आम बात हो गई है। डिस्क (कमर) दर्द का मुख्य कारण आजकल की अनियमित दिनचर्या है। डिस्क (कमर)दर्द आगे झुकने से, वजन उठाने से, झटका लगने से, गलत तरीके से उठने-बैठने व सोने से, व्यायाम के अभाव से एवं पेट आगे निकलने के कारण भी डिस्क (कमर)दर्द हो सकता है। वास्तव में मानव के रीढ़ की बनावट ही है जिसकी वजह से कि वह इस धरती पर राज कर रहा है।

कमर दर्द का आज की तारीख में सबसे बेहतर इलाज है पिन होल सर्जरी। डा.सतनाम सिंह छाबड़ा के अनुसार पहले मरीज को हफ्तों अस्पताल में रहना पड़ता था और महीनों आराम की सलाह दी जाती थी। लेकिन नई उपलब्धियों के कारण अब डिस्क (कमर) दर्द का इलाज लेसर डिस्केटॉमी द्वारा सफलतापूर्वक किया जा सकता है। इस तकनीक द्वारा उन रोगियों का इलाज भी सफलतापूर्वक किया जा सकता है जिन्हें सामान्य इलाज से कोई राहत नहीं मिलती। सबसे बड़ी बात है कि यह पूरा ऑपरेशन केवल 15 मिनट में खत्म हो जाता है तथा उसी समय मरीज ऑपरेशन टेबल से उठकर अपने पैरों के बल ऑपरेशन रूम से बाहर आता है और अगले दिन अपने काम पर वापस लौट जाता है। यह ऑपरेशन जितनी जल्दी करा लिया जाए, परिणाम उतना ही अच्छा होता है।

 

About Team | NewsPatrolling

Comments are closed.

Scroll To Top