Follow my blog with Bloglovin
Friday , 14 December 2018
Breaking News

अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय से पढ़ाई करना फायदेमंद होता है – विशेषज्ञ

नई दिल्ली: कॉमर्स स्ट्रीम के छात्रों के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अब कैरियर के बेहतर विकल्प मौजूद होने के कारण छात्रों का कॉमर्स के प्रति रुझान बढ़ रहा है। यही नहीं, अब कॉमर्स स्ट्रीम के छात्रों के पास चुनने के लिए कैरियर के कई विकल्प हैं।

साइंस, कॉमर्स या ह्युमैनिटीज के लिए अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा समान विकल्प प्रदान करती है। एक स्ट्रीम के रूप में कॉमर्स छात्रों के बीच लोकप्रिय है। बारहवीं कक्षा में कॉमर्स की पढ़ाई करने के बाद छात्रों के लिए स्नातक स्तर पर कई कोर्स हैं जिनमें से वे अपना पसंदीदा कोर्स चुन सकते हैं। इससे उनके लिए कैरियर के कई विकल्पों के मार्ग प्रशस्त हो सकते हैं।

प्रथम एजुकेषन के इंटरनेषनल एजुकेषन डेस्क के प्रोडक्ट हेड श्री रितुराज गोस्वामी ने कहा, ‘‘विश्वविद्यालय अंडर ग्रेजुएट स्तर पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न प्रकार के डिग्री कोर्स उपलब्ध करा रहे हैं। अच्छा एक्सपोजर, अत्याधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर और इन विदेशी विश्वविद्यालयों के द्वारा प्राप्त डिग्री की वैष्विक मान्यता के कारण किसी भी छात्र के करियर की अच्छी शुरुआत होती है। भारतीय छात्र परम्परागत शिक्षा शैली का पालन करते हैं, और विदेशों में पढ़ते समय उन्हें अधिक आकर्षक और सक्रिय सीखने की शैली का अनुभव होता है। कक्षाओं में भागीदारी, संवाद का आदान-प्रदान, केस स्टडीज और लाइव परियोजनाओं के माध्यम से कैंपस के बाहर और अंदर अनुभव जैसी विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से सक्रिय शिक्षा भारतीय छात्रों के लिए सीखने के अनुभव को मजेदार और अधिक सार्थक बनाती है। 

राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उपलब्ध विकल्पों में से कई विकल्पों का सही चयन मुश्किल है। स्नातक अंतरराष्ट्रीय व्यापार या परिवहन, वित्त और अर्थशास्त्र, उद्यमिता प्रबंधन, डिजिटल मार्केटिंग और संचार प्रबंधन में बी. कॉम. में प्रवेश स्तर के कैरियर के लिए तैयार होते हैं। 

श्री गोस्वामी ने कहा, ’’अंतर्राष्ट्रीय शिक्षा एक समग्र वातावरण प्रदान करती है जो छात्र को उसकी विशेषज्ञता के क्षेत्र में सीखने और बढ़ने में मदद करती है और संकाय के साथ गहराई से इंटरैक्षन छात्रों को किसी भी मुद्दे पर वैश्विक परिप्रेक्ष्य प्रदान करती है। कॉमर्स में स्नातक डिग्री के तहत छात्रों को अर्थशास्त्र के सिद्धांतों और कुछ प्रोग्रामां का अध्ययन करने का मौका मिलता है जिनमें वैश्विक अर्थशास्त्र के बुनियादी सिद्धांत, सामाजिक और सांस्कृतिक जागरूकता, राजनीतिक जागरूकता और नीतियों और भाषाओं के बुनियादी सिद्धांत शामिल हैं। स्नातक करने के बाद, छात्र बिजनेस या सरकार में मैनेजमेंट करियर को अपना सकते हैं। अंतर्राष्ट्रीय निर्यात-आयात संस्थानों के माध्यम से प्रासंगिक प्रमाणन की पेशकश की जाती है।’’ 

इन पाठ्यक्रमों को व्यावसायिक कार्यक्रम के भीतर एक प्रमुख या छोटे पाठ्यक्रम के रूप में उपलब्ध कराया जा सकता है। इसके अलावा, कुछ प्रमुख स्कूल डुअल डिग्री प्रोग्राम भी ऑफर करते हैं, जिनमें स्नातक और मास्टर डिग्री प्रोग्राम के कोर्सवर्क का संयोजन होता है। वैष्विक विषय रैंकिंग तालिका कॉमर्स के लिए एक अलग विषय का विकल्प प्रदान नहीं करती है और बिजनेस मैनेजमेंट, इकोनॉमिक्स और इकोनॉमेट्रिक्स के तहत ही सभी विशय आते हैं। डिजिटल मार्केटिंग उन पाठ्यक्रमों में से एक है जो वास्तव में तेजी से उभर रहा है। डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स के तहत मार्केटिंग अभियान, सोशल मीडिया कम्युनिकेषन्स, उपभोक्ता व्यवहार जैसे इंटीग्रेटेड मार्केटिंग कम्युनिकेषन्स आते हैं।

श्री गोस्वामी ने कहा, ‘‘अधिकांश स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए एसएटी (सैट) के मायम से विदेश में किसी भी कॉलेज में प्रवेश पाना महत्वपूर्ण है। प्रथम एजुकेषन अपने केंद्रों में अपने छात्रों को इन-हाउस संकाय, मनोवैज्ञानिक, एसएटी रीयल टाइम मॉक टेस्ट और कई अन्य टेस्ट सहित क्लासरूम सैट कोचिंग प्रदान करती है। अध्ययन सामग्री या अपने अत्यधिक अनुभवी संकाय के मामले में अपने छात्रों को सर्वोत्तम सुविधाएं प्रदान करना संस्थान का मुख्य उद्देश्य है। लाइव ऑनलाइन सैट कक्षाओं की शुरुआत कर, संस्थान ने सैट कोचिंग के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बना ली है और हजारों छात्रों को दुनिया भर में लाइव कक्षाओं का फायदा उठाने  का मौका प्रदान किया है। 

संस्थान ने अपने संकाय के साथ हमेशा छात्रों की जरूरतों को पूरा किया है और सभी स्ट्रीम में छात्रों को सलाह दी है और अपने छात्रों को पूरी दुनिया में ऊंचाइयों पर रखने के उद्देश्य से ज्ञान प्रदान किया है।

Comments are closed.

Scroll To Top
badge