Breaking News

अल्ट्रासाउंड संचालक को लिंग जांच में पाया दोषी, हुई तीन साल क़ैद

यमुनानगर: गर्भ में पल रहे भ्रूण की लिंग जांच करने के मामले में सेशन जज जगदीप जैन की अदालत ने सबूतो के आधार पर आरोपी अजीत कुमार को तीन वर्ष कैद व 10 हजार रूपये का जुर्माना लगाया है। 
 
स्वास्थ्य विभाग से पी.एन.डी.टी. मामलो के प्रभारी डा. सुनील कुमार ने बताया कि सहारनपुर निवासी अजित कुमार पर आरोप था कि उसने अपने मकान में अल्ट्रासाऊंड मशीन रखी हुई थी। उसके पास मशीन रखने की कोई परमिशन नही थी। वह इस मशीन के माध्यम से गर्भ में पल रहे भू्रण का लिंग जांचता था। विदित रहे कि रेड के समय स्वास्थ्य विभाग ने इस मामले में 4 और लोगो को भी आरोपी बनाया था। लेकिन सबूतो के अभाव में कोर्ट ने उन्हे 3 अप्रैल को बरी कर दिया था। जबकि अजित को इस मामले में दोषी करार दिया था। जानकारी के मुताबिक 20 सिंतबर 2015 को स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की संयुक्त टीम ने दावा किया था कि मामले में 7 लोग संलिप्त है। दावा यह भी था कि मामले में 20 हजार रूपये तक की डील हुई थी।

About Team | NewsPatrolling

Comments are closed.

Scroll To Top